प्रशासन की टीम ने हाट की चौकी पर तोड़ा गोदाम - अब भी शहर से बाहर नहीं गए तो होगी एफआईआर 

प्रशासन की टीम ने हाट की चौकी पर तोड़ा गोदाम - अब भी शहर से बाहर नहीं गए तो होगी एफआईआर  ज्वलनशील और विस्फोटक वस्तुओं के व्यावसायों पर चला प्रशासन का डंडा 

प्रशासन की टीम ने हाट की चौकी पर तोड़ा गोदाम - अब भी शहर से बाहर नहीं गए तो होगी एफआईआर 

ज्वलनशील और विस्फोटक वस्तुओं के व्यावसायों पर चला प्रशासन का डंडा 

रतलाम। ज्वलनशील और विस्फोटक वस्तुओं के व्यावसायों पर शुक्रवार को प्रशासन का डंडा चलना शुरु हो गया। पहले दिन हाट रोड, वेद व्यास कॉलोनी स्थित   कबाड़ गोदाम को हटाने की कार्रवाई की गई। प्रशासन का दावा है कि कार्रवाई सभी चिन्हित व्यवसायों के बाहर नहीं जाने तक जारी रहेगी। संचालकों के खिलाफ एफआईआर भी दर्ज हो सकती है। 
                                                                           शुक्रवार को वेद व्यास कॉलोनी में कई वर्षो से बने हुए कबाड़ के बड़े गोदाम को तोड़ा गया। जिला प्रशासन, नगर निगम और पुलिस के संयुक्त दल ने पहुंचकर सामान को जप्त किया और गोदाम को जेसीबी से तोड़ दिया। तोड़ने का चार्ज भी संचालक से वसूल किया जाएगा। कार्रवाई निरंतर जारी रखने के निर्देश भी कलेक्टर ने दिए हैं। ऐसे में संचालकों के खिलाफ स्वत: ही व्यवसाय नहीं हटाने पर एफआईआर भी दर्ज करवाई जा सकती है। उल्लेखनीय है कि कलेक्टर कुमार पुरुषोत्तम ने धारा 144 के तहत रतलाम शहर सीमा क्षेत्र में सभी प्रकार के विस्फोटक या खतरनाक ज्वलनशील वस्तुओं के भंडारण को प्रतिबंधित करते किया था। जिसमें शहर की आबादी क्षेत्र में संचालित कबाड़ ,लकड़ी ,प्लास्टिक, तेल और गैस सिलेंडर की दुकानों और गोदामों को 20 दिसंबर तक शहर की सीमा से हटाने के आदेश जारी किए गए थे। जिसके बाद प्रशासन की कार्रवाई शुरू हो चुकी है।


मोहन नगर में हुई थी बड़ी आगजनी 

अक्टूबर महीने में शहर के मोहन नगर रहवासी क्षेत्र में स्थित एक अवैध कृषि पाइप गोदाम में भीषण आग लग गई थी। इसकी वजह से पास के रहवासी इलाकों के 1 दर्जन से अधिक मकान प्रभावित हुए थे। पास ही स्थित पेट्रोल पंप तक आगे पहुंचती तो विनाशकारी हादसा भी हो सकता था। इसके बाद जिला प्रशासन ने इस तरह के सभी खतरनाक व्यवसायियों को शहर के बाहर शिफ्ट किए जाने के निर्देश दिए थे। खतरनाक किस्म के व्यवसाय कतार्ओं को 20 दिसंबर तक अपने गोदाम शहर सीमा से बाहर शिफ्ट कर लेने की समय सीमा दी गई थी। समय सीमा के बाद प्रशासन की टीम ऐसे खतरनाक और ज्वलनशील पदार्थों के व्यवसाय को चिन्हित कर कार्रवाई कर रही है।


इन क्षेत्रों में अधिक हैं व्यवसाय

शहर की हाट रोड, वेद व्यास कॉलोनी, मोहन नगर, सुभाष नगर, लक्कड़पीठा, ईदगाह रोड, रामगढ़, अमृतसागर तालाब किनारे, उकाला रोड, दिलीपनगर मेन रोड आदि में इस प्रकार के व्यवसाय अधिक हैं।