संगीत के सुरों से निकलती - सिर्फ पसंद की लय नहीं, बल्कि थैरेपी भी 

म्युज़िक यानी संगीत सुनना हम से अधिकतर लोगों की पसंद है। लेकिन क्या आप जानते हैं कि संगीत सुनना आपके लिए केवल रुचि ही नहीं बल्कि आपके जीवन में फायदेमंद भी है।

संगीत के सुरों से निकलती - सिर्फ पसंद की लय नहीं, बल्कि थैरेपी भी 


हेल्थ डेस्क।  म्युज़िक यानी संगीत सुनना हम से अधिकतर लोगों की पसंद है। लेकिन क्या आप जानते हैं कि संगीत सुनना आपके लिए केवल रुचि ही नहीं बल्कि आपके जीवन में फायदेमंद भी है। कैसे जानिये हमारी इस स्टोरी में...। 
विशेषज्ञ दशकों से संगीत के हमारे स्वास्थ और मन: स्थिति पर असर को लेकर शोध करते रहे हैं। प्राचीन भारतीय शास्त्रीय संगीत का हर राग ही किसी न किसी विशेष मन: स्थिति, विशेष विचार और विशेष भाव से जुड़ा है। क्योंकि संगीत 7 सुरों से ही निकलता है, ऐसे में हर तरह का संगीत या धुन हम पर असर डालती ही है। इसी विचार के साथ म्युज़िक थैरेपी धीरे-धीरे काफी लोगप्रीय और असर कारण होती जा रही है। कई मनोचिकित्सक मानते हैं कि डिप्रेशन से परेशान लोगों को तो महंगे ट्रीटमेंट या मोटी मोटी दवाई खाने से पहले एक बार म्यूजिक थेरेपी जरूर ट्राई करनी चाहिए। संगीत से मानसिक स्वास्थ्य को बेहतर बनाया जा सकता है। इसके अलावा संगीत मूड को अच्छा करने, दुख या तनाव को दूर करने से लेकर कई अच्छे बदलाव आपमें करता है। 

क्या है अच्छा संगीत सुनने के फायदे :- 
- विशेषज्ञ मानते हैं कि पसंद का म्युज़िक सुनने से व्यक्ति का मूड अच्छा हो सकता है।
- म्यूजिक सुनने से तनाव दूर होता है, खासकर मद्धम संगीत। डिप्रेशन जैसी समस्या में भी राहत मिल सकती है।
- म्यूजिक मूड स्विंग की समस्या को दूर करता है।  
- वातावरण में पॉजिटिविटी आती है।
- लाईट म्जुयिक सुनने से कई सरदर्द, दर्द जैसी समस्या भी हल होती है। 
- रात के समय म्जुयिक सुनने से अनिद्रा दूर होती है और नींद गहरी आती है। 
- मेडिटेशन के समय भी कई लोग म्जुयिक सुनना खासकर वादन सुनना पसंद करते हैं, जिससे ध्यान और गहरा होता है। 
- म्युज़िक से हार्मोनल लेवल को संतुलित भी किया जा सकता है। 

किन बातों का रखें ध्यान-
- म्यूजिक हमेशा कोहल्की आवाज में रखना चाहिए। तेज आवाज में म्यूजिक सुनने से कानों पर नकारात्मक प्रभाव पड़ सकता है।
- यदि आप लो फील कर रहे हैं तो ऐसे समय में सैड म्यूजिक सुनने के बजाय फास्ट बीट सॉन्ग या लाइट म्यूजिक सुनें। 
- ड्राइविंग के वक्त तेज आवाज में म्यूजिक सुनना आपके लिए और सड़क पर चल रहे लोगों के लिए दोनों के लिए हानिकारक हो सकता है। ऐसे में ट्रैवलिंग के दौरान हल्का म्यूजिक और कम आवाज म्यूजिक सुनना बेहतर साबित हो सकता है।