किसी समारोह में होने वाले हैं शामिल तो रहें तैयार- हो सकती है कोरोना की जांच 

कोरोना की तीसरी लहर के अंदेशे को देखते हुए प्रशासन की बैठक हुई। जिले में होने वाली किसी भी समारोह, निजी या शासकीय आयोजन में अचानक ही कोरोना की जांच की जाएगी। ये निर्देश कलेक्टर ने दिए।

किसी समारोह में होने वाले हैं शामिल तो रहें तैयार- हो सकती है कोरोना की जांच 


-ओमीक्रॉन की संभावित लहर को लेकर हुई बैठक में कलेक्टर ने दिए निर्देश 


रतलाम। जिले में होने वाली किसी भी समारोह, निजी या शासकीय आयोजन में अचानक ही कोरोना की जांच की जाएगी। अगर किसी की रिपोर्ट पॉजीटिव आई तो तत्काल ही उसे अस्पताल में भर्ती करने के साथ उसके संपर्क में आने वालों की भी टेस्टिंग होगी। पॉजीटिव व्यक्ति का सेम्पल जीनोम सिक्वेंसिंग के लिए भी भेजा जा सकता है ताकि ओमक्रॉन की दस्तक का अंदाजा लगाया जा सके। 
ये निर्देश कलेक्टर कुमार पुरुषोत्तम ने बुधवार को मेडिकल कॉलेज में आयोजित की गई बैठक में दिए। कोरोना की तीसरी लहर के अंदेशे को देखते हुए प्रशासन की बैठक हुई। कलेक्टर के साथ एसपी गौरव तिवारी, अपर कलेक्टर एमएल आर्य,  सीईओ जिला पंचायत जमुना भिड़े, एएसपी डॉ इंद्रजीत बाकलवार, सुनील पाटीदार,  एसडीएम अभिषेक गहलोत, मेडिकल कॉलेज डीन जितेंद्र गुप्ता, सीएमएचओ डॉ प्रभाकर नानावरे आदि मौजूद थे। कलेक्टर ने डीन से संभावित लहर की तैयारियों पर सवाल किए। इसपर डीन और सीएमएचओ ने बताया कि ओमीक्रॉन के खतरे को देखते हुए तैयारियां पूर्ण कर ली गई हैं। आॅक्सीजन प्लांट से लेकर बेड और उपकरण, दवाईयां भी पर्याप्त मात्रा में समय रहते मंगवा ली गईं हैं। 


बिना मास्क निकलने वालों पर अधिक कार्रवाई 

एसडीएम शहर अभिषेक गहलोत को कलेक्टर ने निर्देशित किया कि मास्क पहने सार्वजनिक स्थानों पर आने वालों के खिलाफ और तेज की जाए। रैपिड रिस्पांस टीम को सक्रिय करें और रेंडम रूप से चेकिंग हो। कलेक्टर ने स्वास्थ, राजस्व, पुलिस विभाग को मॉक ड्रिल भी करते रहने के निर्देश दिए। उन्होंने यह भी कहा कि सार्वजनिक स्थानों पर होने वाले समारोह, कार्यक्रमों में लगातार सेंपलिंग की जाए। दोनों वैक्सीन डोज की चेकिंग भी सभी स्पॉट पर होती रहे और बिना वैक्सीन वालों को तत्काल वैक्सीन लगाए जाएं। जिले की सीमा पर भी सावधानी बरती जाएगी। राज्य शासन से आदेश आया तो नाइट कर्फ्यू भी लगेगा।